Are there any lines more beautiful than these?

Penned by Madan Mohan and Raja Mehdi Ali Khan

आपकी नज़रों ने समझा / प्यार के काबिल मुझे
दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा / मिल गयी मंजिल मुझे
आपकी नज़रों ने समझा
 
जी हमें मंज़ूर है / आपका ये फैसला
केह रही है हर नज़र / बन्दा परवर शुक्रिया
हँस के अपनी ज़िन्दगी में /कर लिया शामिल मुझे
दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा / मिल गयी मंजिल मुझे
आपकी नज़रों ने समझा
 
आपकी मंज़िल हूँ मैं / मेरी मंज़िल आप हैं
क्यों मैं तूफाँ से डरूँ / मेरा साहिल आप हैं
कोई तूफानों से कह दे / मिल गया साहिल मुझे
दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा / मिल गयी मंजिल मुझे
आपकी नज़रों ने समझा
 
पड़ गई दिल पर मेरे / आपकी परछाईयाँ
हर तरफ बजने लगीं / सैकड़ों शहनाईयां
दो जहां की आज खुशियाँ / हो गईं हासिल मुझे
दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा / मिल गयी मंजिल मुझे
आपकी नज़रों ने समझा
 
The original was sung by Lata Mangeshkar, but also see the amazing Shreya Ghoshal + Berklee interpretation here
 
One history is this is sung by a devotee to the guru – fits perfectly as well as a lover to another. 
Follow by Email
Facebook
Twitter
LinkedIn

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Search

  • Search

  • Categories

  • Post Date